क्या है धारा 370 जिसका आतंकी उठाते है फायदा, जानिए सबसे बड़ा सच

14 फरवरी को जम्मू कश्मीर में पुलवामा में हुए आक्रमण के पश्चात पूरा देश धारा 370 पर बहस कर रहे हैं। कई लोगों का कहना है, कि राज्य में लागू धारा 370 को निष्कासित कर देना चाहिए। वही 2014 में राज्य में हुए मतदान के वक्त से ही इस पर काफी बड़ी बहस चल रही थी।

तो आइए जानते हैं धारा 370 के बारे में

1. जम्मू कश्मीर के निवासियों के पास दो नागरिकता होती है और यहां का नेशनल फ्लैग भी अलग है।

2. जम्मू कश्मीर की विधानसभा का कार्यकाल 6 साल का होता है। जब हिंदुस्तान के दूसरे राज्यों की विधानसभाओं का कार्यकाल 5 साल का होता है।

3. जम्मू कश्मीर के अंदर हिंदुस्तान के नेशनल फ्लैग या राष्ट्रीय प्रतीक का अपमान अपराध नहीं माना जाता है। हिंदुस्तान के उच्चतम न्यायालय के आदेश जम्मू कश्मीर के अंदर ही मान्य नहीं होते हैं।

4. जम्मू कश्मीर की कोई औरत यदि हिंदुस्तान के किसी दूसरे राज्य के व्यक्ति से शादी कर ले तो उस औरत की नागरिकता खत्म हो जाएगी। इसके विपरीत यदि पाकिस्तान के किसी व्यक्ति से शादी कर लेती है, तो उसे भी जम्मू कश्मीर की नागरिकता मिल जाएगी।

5. कश्मीर में महिलाओं पर शरियत कानून लागू है। कश्मीर में पंचायत की अथॉरिटी नहीं है।

6. कश्मीर में चपरासी को 2500 रूपये ही मिलते हैं और कश्मीर अल्पसंख्यकों हिंदू सिख को 16% आरक्षण भी प्राप्त नहीं है।

7. एक्ट 370 के कारण से कश्मीर में बाहर के लोग जमीन नहीं खरीद सकते हैं।

8. एक्ट 370 के कारण से ही पाकिस्तानियों को भी हिंदुस्तान की नागरिकता मिल जाती है। इसके लिए पाकिस्तानियों को सिर्फ किसी कश्मीरी औरत से विवाह करना होता है।

Khoj Media Me Aapka Swagat Hai. Agar Aap Rojana Aisi hi khabar Apne facebook Par Pana chahte hain to Khojmedia Ke Facebook Page Ko abhi Like Kare.

Related Posts:

Disqus Comments