पाक को बड़ा झटका: अमेरिका जल्द छीन सकता है पाकिस्तान से ये बड़ा अधिकार

जम्मू कश्मीर के पुलवामा क्षेत्र में आंतकी हमले के बाद पाकिस्तान चारों ओर से समस्याओं से घिरता जा रहा है। पाकिस्तान के नए मंत्री इमरान खान के बनने के बाद से अमेरिका की पाकिस्तान पर लगातार आंतकवाद के मुद्दे पर नजर बनी हुई है और अमेरिका अब शायद पाकिस्तान की आर्थिक मदद को भी रोकने वाला है।

अमेरिका की ओर से अब पाकिस्तान को एक और बड़ा झटका दिया गया है। अमेरिका की संसद कांग्रेस के अनुसार पाकिस्तान को नोटों की मदद का दर्जा खत्म करने की मांग सामने आ रही है और इसकी खबर अमेरिका के संसद में विधायक सत्ता अधिकारी रिपब्लिकन पार्टी मेंबर एंडी ब्रिक्स के द्वारा मिली है।

एंडी ब्रिक्स के द्वारा विधायक में यह बोला गया है कि पाकिस्तान को मिलने वाले ढेर सारी नोटों की मदद से पाकिस्तान को बाहर किया जाए और उसके बाद पाकिस्तान को यह अधिकार दोबारा मिलने पर उनके लिए अलग से नियम लागू किया जाए और इस प्रक्रिया को लागू करने के लिए विदेशी मामलों की समिति के पास प्रस्ताव को प्रस्तुत किया गया है।

कौन है नोटों का सहयोगी देश

नोटों का सहयोगी देश अमेरिका और यूरोप महाद्वीप देशों का एक बड़ा संगठन है और इस संगठन में कुल मिलाकर 29 कंट्री एक समूह में शामिल है।

पाकिस्तान के अलावा इसराइल जापान अफगानिस्तान और ऑस्ट्रेलिया को और अन्य देशों को इस नोटों सहयोगी देशों का दर्जा दिया गया है।

भारत में हुए आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान पर अमेरिका द्वारा लगातार आंतकी संगठन को पनाह देने का आरोप लगाया जा चुका है और अमेरिका द्वारा पाकिस्तान को कहा गया है कि अगर गेर नोटों सहयोगी देशों की लिस्ट में अपना स्थान बरकरार रखना चाहते है, तो उसे आतंकवाद जैसे संगठनों पर पूर्ण रूप से कार्रवाई कर प्रॉमिस देना चाहिए और उसके बाद अफगानिस्तान सरकार के साथ मिलकर आंतकवाद को आगे बढ़ने से रोकने की ओर कदम बढ़ाने चाहिए, क्योंकि जानकारी के अनुसार हक्कानी नेटवर्क के आतंकवादियों पर अफगानिस्तान में आंतकवादी पनाह को लेकर इल्जाम लगा था।

Khoj Media Me Aapka Swagat Hai. Agar Aap Rojana Aisi hi khabar Apne facebook Par Pana chahte hain to Khojmedia Ke Facebook Page Ko abhi Like Kare.

Related Posts:

Disqus Comments