भारत क्यों नही करना चाहता है पाकिस्तान पर हमला, यूपी में भी हुई पत्थरबाजी

एक बार फिर से स्वागत है आप सभी का हमारे चैनल में जहां आज की इस खास पोस्ट में हम आपको उस वजह के बारे में बताने जा रहे हैं जिस कारण भारत देश पाकिस्तान पर कभी हमला नहीं करता है| हम आशा करते हैं हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आएगी और आप इसे अपने सभी चाहने वालों के साथ जरूर शेयर करेंगे| तो आइए इसी के साथ नजर डालते हैं भारत पाकिस्तान संबंध से जुड़े इस विशेष जानकारी के बारे में|

जैसा की आप सभी जानते है भारत पाकिस्तान देश में कोई मित्रता संबंध नहीं है और पाकिस्तान अक्सर भारत देश पर हमला करने की धमकी देता रहता है लेकिन भारत देश हमेशा पाकिस्तान की इन धमकियों को अनदेखा करता रहता है|

पाकिस्तान देश पर हमला ना करने का भारत देशवासियों के पास एक बहुत बड़ा कारण है क्योंकि भारतीय सेना जानते हैं अगर वे पाकिस्तान देश पर हमला करते हैं तो पाकिस्तान के समर्थक और मित्र देश उसके सहयोग के लिए भारत के दुश्मन बन जाएंगे और इस दुश्मनी का नतीजा भारत के प्रत्येक नागरिक को सहना पड़ सकता है क्योंकि हर एक युद्ध हमेशा जान माल और धन की हानि का कारण बनता है| इस समय भारत देश अपनी आर्थिक व्यवस्था को मजबूत और खुद को सबसे शक्तिशाली देश बनाने की तर्ज में लगा हुआ है और कोई भी युद्ध उसे उसकी इस राह से भटका सकता है|

यही एक महत्वपूर्ण कारण है कि जिस वजह से भारत पाकिस्तान देश से दुश्मनी ना लेते हुए उसकी सभी गतिविधियों को आज तक अनदेखा करते हुए आया है लेकिन अगर पाकिस्तान देश की यही गतिविधियां इसी प्रकार चलती रही तो भारत देश चुप नहीं बैठेगा फिर चाहे नतीजे कुछ भी हो|

जब भी पत्थरबाजी आप नाम सुनते हैं तो आपके मन में सबसे पहले जम्मू कश्मीर का ही नाम आता होगा क्योंकि वहां है सबसे ज्यादा पत्थरबाजी सुरक्षाबलों पर होती है लेकिन अब यह पत्थरबाजी कश्मीर से बाहर लेकर कर उत्तर प्रदेश में भी आ गई है उत्तर प्रदेश में भी कल सुरक्षाबलों पर पथराव किया गया जिसमें हमारे एक सिपाही की मौत हो गई । बता दे आपको कि यह सभी सुरक्षा बल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा से लौटकर अपनी ड्यूटी पूरी कर वापस आ रहे थे लेकिन रास्ते में भीड़ ने इन पर पथराव कर दिया जिनमें एक सिपाही शहीद हो गया ।

निषाद समुदाय के कुछ लोग नौनेरा इलाके में अटवा मोड़ पुलिस चौकी पर प्रदर्शन कर रहे थे, यहीं कुछ लोगों ने पत्थरबाज़ी की जिसमें उन्हें ज़्यादा चोट लग गई. अस्पताल में उनकी मौत हो गई । मृतक सिपाही का नाम सिपाही सुरेश है । घटना के बाद ग़ाज़ीपुर के डीएम के बालाजी और एसपी यशवीर सिंह समेत ज़िले के सभी आला अधिकारी पहले घटनास्थल और उसके बाद अस्पताल पहुंचे. घटना में दो अन्य लोग भी गंभीर रूप से घायल हैं जिनका इलाज चल रहा है जबकि कई पुलिसकर्मियों को भी मामूली चोटें आई हैं

Khoj Media Me Aapka Swagat Hai. Agar Aap Rojana Aisi hi khabar Apne facebook Par Pana chahte hain to Khojmedia Ke Facebook Page Ko abhi Like Kare.

Related Posts:

Disqus Comments