पोर्ट पर सड़ रहा PAK का सीमेंट, देखिए भारतीय कारोबारियों ने क्या कहा

पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले के पश्चात हिंदुस्तान के कारोबारियों ने पाकिस्तान की सीमेंट लेने से इंकार कर दिया है। जानकारी के लिए आपको बताना चाहते हैं, कि पाकिस्तान से आए सीमेंट के 600 और 800 कंटेनर को हिंदुस्तानी बिजनेसमैन ने मना कर दिया है। पाकिस्तानी अखबार द डॉन की एक खबर की माने तो यह कंटेनर कराची कोलंबो और दुबई के पोर्ट पर पड़े हुए हैं। हिंदुस्तान उठा चुका है दो कठोर कदम।

आतंकवादी हमले के पश्चात से अब तक पाकिस्तान के विरुद्ध कठोर कदम उठाए जा चुके हैं। एक तो पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन वापस ले लिया गया है और उसके अलावा हिंदुस्तानी पाकिस्तान से आयात होने वाले। सामानों पर 200 प्रतिशत कस्टम ड्यूटी बढ़ा दी गई है। हिंदुस्तान के इन कदमों से पहले ही यह बात जताई जा रही थी, कि इसे पाकिस्तान के सीमेंट सेक्टर में सबसे ज्यादा मुश्किलें बढ़ने वाली है। हिंदुस्तान के इस कदम से ना सिर्फ पाकिस्तान की सीमेंट का कारोबार का नुकसान हुआ है, बल्कि सीमेंट कंपनियां बंद होने से बेरोजगारी बढ़ने की तरफ खतरा मंडरा रहा है।

पाकिस्तान को हो सकता है 500 करोड़ रुपए से भी अधिक का नुकसान

पाकिस्तान हर वर्ष इंडिया को 500 और 572 करोड रुपए का सीमेंट निर्यात करता था। हिंदुस्तान के बिजनेसमैन के इस कदम से पाकिस्तान को यह भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है। अभी तक बिना ड्यूटी के पाकिस्तान से आने वाले 1 टन सीमेंट 3415 करोड रुपए का पड़ता था, जो अब काफी महंगा हो चुका है। ऐसे में पाकिस्तान से हिंदुस्तान को सीमेंट का निर्यात लगभग नहीं के बराबर हो गया है।

छोटे-छोटे निवेश को बना देते हैं लाखों का फंड


वर्तमान समय में वित्त वर्ष में जुलाई से जनवरी के मध्य पाकिस्तान ने हिंदुस्तान को 6.48 लाख टन सीमेंट निर्यात किया था, जबकि 2017 में 12.12 लाख टेन सीमेंट निर्यात किया था और पाकिस्तान सीमेंट मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन के मुताबिक पाकिस्तान ने 2007 में इंडिया को सीमेंट निर्यात करना स्टार्ट कर दिया था। 2016 में पाकिस्तान ने सबसे अधिक हिंदुस्तान को 12.53 लाख टन सीमेंट निर्यात किया।

हिंदुस्तान की सीमेंट सेक्टर को होगा फायदा

पाकिस्तान पर कस्टम ड्यूटी बढ़ाने से हिंदुस्तान के सीमेंट सेक्टर को एक बड़ा लाभ होने वाला है। वहीं पाकिस्तान से सीमेंट का निर्यात ना होने से पाकिस्तान को बहुत बड़ा झटका लगने वाला है। हिंदुस्तान अभी तक पाकिस्तान से बड़ी मात्रा में सीमेंट आयात करता आ रहा था। पाकिस्तान से आने वाली सीमेंट की सबसे ज्यादा बिक्री उतरी इंडिया में हुआ करती थी। इसका बड़ी वजह यह थी कि यह इंडियन सीमेंट से करीब 10 15 फ़ीसदी सस्ती होती थी। पाकिस्तान से सीमेंट आया ना होने की वजह से इंडियन कंपनियों को फायदा होने वाला है।

पाकिस्तान से आते हैं यह सामान

कस्टम ड्यूटी बढ़ाकर 200% कर दी गई है। अब पाकिस्तान की ओर से हिंदुस्तान को किया जाने वाला निर्यात इफेक्ट में आ गया है। पाकिस्तान से ताजे फल चमड़ा और सीमेंट सहित 10 प्रमुख उत्पादों के निर्यात को नुकसान उठाना पड़ेगा। पाकिस्तान से हिंदुस्तान को 10 उत्पादों का निर्यात किया जाता था। इसमें पेट्रोल खनिज और रसायन कक्षा कपास सूती कपड़े शीशा और शीशे के सामान की पार्टनरशिप लगभग 95% है।

अभी तक व्यापार की स्थिति

2017 में इंडिया और पाकिस्तान के मध्य 2.4 बिलियन डॉलर का बिजनेस हुआ था। इस कारोबार में हिंदुस्तान की तरफ 1.9 बिलियन डॉलर का सामान पाकिस्तान में सेल किया गया और पाकिस्तान की तरफ से 500 बिलियन डॉलर की चीजें इंडिया आई।

Khoj Media Me Aapka Swagat Hai. Agar Aap Rojana Aisi hi khabar Apne facebook Par Pana chahte hain to Khojmedia Ke Facebook Page Ko abhi Like Kare.

Related Posts:

Disqus Comments