मुसलमानों पर मेहरबान हुई मोदी सरकार, इन 2 बड़े फैसलों से मुस्लिम समाज में छाई खुशी

लोकसभा चुनाव से पहले सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी अपनी रणनीति में बड़ा बदलाव कर रही है। भाजपा अल्पसंख्यक समुदाय के बीच अपनी छवि सुधारने के लिए कई बड़े फैसले ले रही है। मोदी सरकार ने मुस्लिम समाज के हित के लिए 2 बड़े फैसले किए हैं, जिसे जानकर प्रत्येक मुस्लिम खुश हो जाएगा।

देश में आगामी लोकसभा चुनाव होने में बहुत ही कम वक्त बाकी रह गया है। ऐसे में सभी राजनीतिक दलों ने मतदाताओं को अपने पक्ष में करने के लिए रणनीति बनाना शुरू कर दी। देश में मुस्लिम समुदाय की आबादी लगभग 14% है तथा उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों में अनेक लोकसभा सीटों पर मुस्लिम आबादी निर्णायक स्थिति में है।

भारत देश के विभिन्न राज्यों में मुस्लिम समुदाय कांग्रेस एवं अन्य विभिन्न क्षेत्रीय पार्टियों का वोटर माना जाता है। ऐसे में भारतीय जनता पार्टी अपनी अल्पसंख्यक विरोधी छवि मिटाकर मुस्लिम समुदाय को अपनी तरफ आकर्षित करने का प्रयास कर रही है।

1.सवर्ण मुस्लिमों को आरक्षण-

मोदी सरकार ने सवर्ण समुदाय को दिए गए 10% आरक्षण में मुस्लिम धर्म की सवर्ण जातियों को भी सम्मिलित किया है। मुस्लिम समुदाय में शेख, सैयद पठान और मुगल सवर्ण जातियां मानी जाती हैं। मुस्लिम समुदाय की कुछ जातियों को ओबीसी कोटे में आरक्षण प्राप्त है लेकिन इन 4 जातियों को अभी तक आरक्षण नहीं मिला था। ऐसे में मोदी सरकार ने सवर्ण आरक्षण में मुस्लिम समुदाय की जातियों को सम्मिलित करके अल्पसंख्यक समुदाय के हित में एक बड़ा फैसला किया है।

2.हज यात्रा की उम्र में बदलाव-

मोदी सरकार द्वारा मुस्लिम समुदाय की महत्वपूर्ण धार्मिक तीर्थ यात्रा हज पर जाने वाले तीर्थयात्रियों की अधिकतम उम्र में बढ़ोतरी की गई है। हज कमेटी ऑफ इंडिया ने हज पर जाने वाले यात्रियों की अधिकतम उम्र 50 से बढ़ाकर 58 करने की घोषणा कर दी है। मोदी सरकार के इस फैसले से मुस्लिम समुदाय के बुजुर्ग व्यक्तियों को बड़ी राहत मिलेगी।

Khoj Media Me Aapka Swagat Hai. Agar Aap Rojana Aisi hi khabar Apne facebook Par Pana chahte hain to Khojmedia Ke Facebook Page Ko abhi Like Kare.

Related Posts:

Disqus Comments